सावरकर टाइम्स ने उठाये सवाल! क्यों हुए बापू आसारामजी षड़यंत्र के शिकार..??

सावरकर टाइम्स ने उठाये सवाल!

क्यों हुए बापू आसारामजी षड़यंत्र के शिकार..???

सावरकर टाइम्स अखबार में लिखा है कि बापू आसारामजी हिन्दू धर्म के एक महान संत हैं, जिन्होंने हिन्दू धर्म की महत्ता के बारे में पूरे हिन्दू समाज को जागरूक किया  और हिंदुओं के हो रहे धर्म परिवर्तन को रोकने के बहुत ही सराहनीय कार्य किये, लेकिन हिन्दू विरोधी लोगो को आसारामजी बापू सुई की तरह चुभने लगे ।

संत आसारामजी बापू ने जो सबसे महत्त्वपूर्ण कार्य किया वो था जयेन्द्र सरस्वतीजी की सहायता, जो हिन्दू धर्म के महान शंकराचार्य हैं ।

Add caption

जब उन पर झूठे केस डाले गए तो बापू आसारामजी ने इस कबराना कार्य की पुरजोर निंदा की और आंदोलन में भाग लिया । विश्व हिंदू परिषद् ने जयेन्द्र सरस्वती की गिरफ्तारी के विरोध में आंदोलन किया लेकिन जब विश्व हिंदू परिषद का आंदोलन कमजोर पड़ने लगा तब कमजोर पड़ते आंदोलन को बापू आसारामजी ने सहयोग दिया और कामयाब आंदोलन में बदल दिया और आसारामजी बापू का यत्न रंग लाया और जयेन्द्र सरस्वती बच गये लेकिन बापू आसारामजी खुद कुछ हिन्दू विरोधी लोगों की आँखों में चुभने लगे।

जयेन्द्र सरस्वती वाले आंदोलन के बाद बापू आशारामजी पर कई प्रकार के इल्जाम लगने शुरू हो गये, जैसे कि बापूजी पानी का ज्यादा इस्तेमाल करके पानी को खराब करते हैं ऐसे कई प्रकार के छोटे छोटे इल्जाम लगने शुरू हुए लेकिन षड़यंत्रकारियों ने देखा कि हमारे लगाये इल्जामों का तो बापूजी की छवि पर कोई असर नहीं हो रहा है तो उन्होंने बापूजी पर घटिया इल्जाम यौन शोषण का लगा दिया, जो अभी तक सच साबित नहीं हुआ।

फिर दूसरा इल्जाम लगाया गया कि बापूजी के जम्मू स्थित आश्रम में बच्चे-बच्चियों की लाश दबी हुई है वह इल्जाम भी झूठा साबित हुआ और दोषियों ने अपनी गलती मानी ।

उसमें आगे लिखा है कि बापूजी ने धार्मिक क्षेत्र के अलावा दूसरे क्षेत्रों में भी सराहनीय कार्य किये हैं…!!

जैसे…

1. महान गऊ पालक – बापू आसारामजी एक महान गऊ पालक भी हैं, उन्होंने हजारों बेसहारा गायों को जो दूध नहीं देती, उनको कत्लखानो से बचा कर रखा है। उनमें से बहुत सी गाय अच्छी नस्ल की गाय है ।

2. महिलाओं के लिए कार्य – बापूजी महिलाओं के लिए शिक्षा,भोजन व अन्य भी कई तरह की सहायता करते रहे हैं ।

3. शिक्षा के क्षेत्र – शिक्षा के क्षेत्र में भी उन्होंने बहुत से सराहनीय कार्य किये हैं, गरीब लोगों के बच्चों को किताबें मुफ्त में दी जाती हैं आदि।

4. गरीब और बेसहारों के लिए कार्य – जब – जब कहीं भूकंप आता है तो बापूजी वहां अपना सहयोग देते हैं, जैसे भोजन,कपड़ा दवाईया आदि व केम्प भी लगाये जाते हैं ।

5. अमरनाथ यात्रा – अमरनाथ यात्रा के लिये भी बापूजी ने अनुचित फीस हटाने की फारुख अब्दुल्ला से मांग की थी और फिर उसको पत्र भी लिखा था ।

6. बच्चों को संस्कार देना –  बापूजी ने बच्चों की शिविरों द्वारा उन्हें अच्छे संस्कार भी दिए । जैसे सुबह जल्दी उठना,माता-पिता को प्रणाम करना और मातृ-पितृ पूजन दिवस भी शुरू करवाया ।

धर्म परिवर्तन के खिलाफ समाज को जागरूक कर इसको रोकने का यत्न किया ।

मीडिया इन सब बातों का प्रचार कभी नहीं करती क्योंकि यह अच्छे कार्य हैं, इसीलिए हिन्दू यूनाइटेड फ्रंट ने बापूजी के इन कार्यो को देखते हुए तीन जिलों में सेमिनार आयोजित किये और भारत के राष्ट्रपति को ज्ञापन भेज कर मांग की कि बापू आसारामजी के खिलाफ षड़यंत्र रचने वालों पर केस दर्ज किया जाए ।

-लवलीन कुमार ( कनवीनर) हिन्दू यूनाइटेड फ्रंट

आपको बात दें कि बापू आसारामजी के ऐसे तो समाज उत्थान के अनेकों कार्य हैं जिस पर कभी भी मीडिया का कैमरा नही गया है बल्कि धर्मान्तरण पर रोक लगाने और विदेशी कंपनियों को घाटा आने पर मीडिया द्वारा बदनाम जरूर करवाया गया है ।

गौरतलब है कि बापू आसारामजी बिना आरोप सिद्ध हुए तीन साल से जोधपुर जेल में बन्द है । उनके लिए उनके अनुयायियों और अनेक हिन्दू सगठनों द्वारा देश भर में आंदोलन जारी हैं एवं सोशल मीडिया द्वारा और राज्य सभा में भी जमानत की लगातार आवाज उठती रही है लेकिन फिलहाल सरकार की लापरवाही से उनको सामान्य जमानत तक भी नही मिल पायी है। जबकि दूसरी ओर हमारा कानून आतंकवादी को भी जमानत देने की उदारता रखता है।

क्या सच में कानून सबके लिए समान है ?

सोचो हिन्दू !!!

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s